HEALTH

गर्भवती होने पर पीरियड्स मिस होने से भी पहले शरीर देता है ऐसे संकेत, जानें

Spread the love


प्रेग्नेंट होना किसी भी महिला के लिए सबसे खास अनुभव है. मां बनने की खुशी का मुकाबला कोई भाव नहीं कर सकता. पीरियड्स (माहवारी) मिस होना प्रेग्नेंसी का सबसे पहला लक्षण माना जाता है, जिसके बाद प्रेग्नेंसी टेस्ट आदि का सिलसिला शुरू होता है. लेकिन आपको बता दें कि गर्भावस्था की शुरुआत में पीरियड्स मिस होने से पहले भी कुछ लक्षण दिखने लगते हैं. दरअसल, गर्भावस्था के ये लक्षण महिलाओं के शरीर में होने वाले बदलाव हैं. आइए गर्भावस्था के इन लक्षणों के बारे में जानते हैं.

ये भी पढ़ें: दही के साथ इन चीजों को मिलाकर खाने से घटेगा वजन और बढ़ेगी इम्युनिटी, जानें एक्सपर्ट की राय

पीरियड्स मिस होने से पहले दिखने वाले प्रेग्नेंसी के लक्षण
पीरियड्स मिस होने से पहले भी महिलाएं अपने शरीर में निम्नलिखित में से कुछ बदलावों को एकसाथ महसूस कर सकती हैं. हालांकि, गर्भावस्था के ये लक्षण बिल्कुल पीएमएस (Premenstrual Syndrome) के लक्षणों जैसे हैं.

1. स्तनों में सूजन या संवेदनशीलता
प्रेग्नेंसी की शुरुआत में महिलाओं के स्तनों में सूजन आ सकती है. इसके साथ ही वह संवेदनशील भी बन सकते हैं, जिससे उन्हें छूने पर दर्द का एहसास हो सकता है. ऐसा शरीर में प्रोजेस्ट्रोन हॉर्मोन के बढ़ते स्तर के कारण होता है.

2. एरिओला का गहरा रंग
महिलाओं के स्तनों पर मौजूद एरिओला हिस्से का रंग और गहरा होता जाता है. दरअसल, एरिओला गहरे रंग का वह हिस्सा होता है, जो निप्पल के आसपास होता है. यह बदलाव गर्भधारण के पहले व दूसरे हफ्ते में हो सकता है.

3. बार-बार पेशाब आना
गर्भावस्था में आपका शरीर पहले से ज्यादा ब्लड पंपिंग करता है. जिस कारण आपको बार-बार पेशाब करने जाना पड़ सकता है. महिलाओं के शरीर में यह बदलाव भी शुरुआती दो हफ्तों के भीतर दिखने लगता है.

ये भी पढ़ें: क्या ऑफिस का काम करते-करते बढ़ने लगी है चिंता, तो तुरंत राहत देंगे ये उपाय

4. ब्लीडिंग
गर्भधारण के 10 से 14 दिनों के बाद आपको इंप्लांटेशन ब्लीडिंग (Implantation Bleeding) हो सकती है. जो कि खून के हल्के धब्बे या रक्तस्राव जैसी हो सकती है. यह ब्लीडिंग महावारी के संभावित समय से एक हफ्ते पहले हो सकती है, जो कि सामान्य महावारी से कम और हल्की हो सकती है.

5. बेसल बॉडी टेंप्रेचर
गर्भधारण के 18 दिन बाद तक आपके बेसल बॉडी टेंप्रेचर में बढ़ोतरी देखी जाती है. जब शरीर पूरे आराम की स्थिति में होता है, तो उस समय उसका तापमान बेसल बॉडी टेंप्रेचर कहलाता है. इसे नापने का सही समय सुबह उठने के बाद होता है.

अन्य लक्षण

  • पेट फूलना
  • वजायनल डिस्चार्ज
  • जी मिचलाना
  • थकान, आदि

यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं पर आधारित है. इसका हम दावा नहीं करते हैं.





Source link


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *