HEALTH

थकान और सिरदर्द से आयरन की कमी का है सीधा संबंध, जरा सी लापरवाही पड़ सकती है भारी, जानें बचने का उपाय

Spread the love


नई दिल्ली: एक स्वस्थ्य और फिट शरीर के लिए नियमित रूप से मिनरल्स, आयरन और प्रोटीन और पोषक तत्वों की जरूरत होती है. हमारे पूरे शरीर में ऑक्सीजन को पहुंचाने का काम हीमोग्लोबिन ही करता है, लेकिन अगर आयरन की कमी हो, तो हीमोग्लोबिन ठीक से नहीं बन पाता.

पुरुषों की तुलना में महिलाओं में आयरन की कमी ज्यादा देखी जाती है. ऐसे में जरूरी है कि आयरन की कमी न हो, इसके लिए आप कुछ चीजों को डाइट में शामिल कर सकते हैं. आयरन की कमी को दूर करने के लिए हमें आयरन और पोषण के गुणों से भरपूर फूड्स का सेवन ज्यादा करना चाहिए.

इस खबर में हम आपको उन चीजों के बारे में जानकारी दे रहे हैं, जिनमें पर्याप्त मात्रा में आयरन पाया जाता है. डाइट एक्सपर्ट्स डॉ. रंजना सिंह बताती हैं कि आप अपनी डाइट में चुकंदर, पालक, आलू, अनार, सूखी किशमिश, सेब, नींबू, पिस्ता भी एड कर सकते हैं, यह सभी आयरन की कमी को पूरा करते हैं.

पालक का सेवन
डाइट एक्सपर्ट्स डॉ. रंजना सिंह की मानें तो अगर आपके शरीर में आयरन की कमी है तो डाइट में पालक को शामिल कर सकते हैं. यह आयरन का सबसे अच्छा स्त्रोत माना जाता है. पालक में आयरन के अलावा कैल्शियम, सोडियम और फॉस्फोरस के गुण पाए जाते हैं. पालक हीमोग्लोबिन को बढ़ाने में मदद कर सकता है. पालक को आप सूप, सब्जी या कच्चा भी इस्तेमाल कर सकते हैं.

हरी पत्तेदार सब्जियां
आयर की भरपूर मात्रा हरी पत्तेदार सब्जियों में भी पायी जाती है. हरी पत्तेदार सब्जियां सेहत के लिए काफी फायदेमंद माना जाती हैं. क्योंकि इन सब्जियों में भरपूर मात्रा में पोषण के गुण पाए जाते हैं,
 जो शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी को दूर करने में मदद करती हैं. 

आलू का सेवन
आलू एक ऐसी सब्जी का जिसका इस्तेमाल लगभग हर दिन हर घर में किया जाता है. एक कच्चे आलू में 3.2 मिलीग्राम आयरन तत्व पाया जाता है. आलू फाइबर, विटामिन सी, बी 6 और पोटेशियम का भी एक रिच सोर्स है. आलू को डाइट में शामिल कर आयरन की कमी को दूर कर सकते हैं.

अनार का सेवन
आलू के अलावा अनार भी आयरन का बड़ा स्त्रोत है. अनार को आयरन के साथ-साथ इम्यूनिटी के लिए भी लाभकारी माना जाता है. अनार एक ऐसा फल है जो कई बीमारियों से बचाने का काम कर सकता है. अनार या आनार का जूस पीने से आयरन की कमी को दूर किया जा सकता है. 

आयरन की कमी के लक्षण
डाइट एक्सपर्ट्स डॉ. रंजना सिंह बताती हैं कि आयरन की कमी होने पर नाखून कमजोर होकर टूट जाना, सिरदर्द होना, चक्कर आना या सिर घूमने लगता है. इसके अलावा कमजोरी महसूस होना, हाथ पैर ठंडे हो जाते है, अत्यधिक थकान महसूस होना, त्वचा में पीलापन आना, छाती में दर्द, सांस फूलना, मिट्टी के पदार्थो को खाने की इच्छा होना इसके लक्षण हैं.

आयरन की कमी से होने वाली बीमारियां

डॉ. रंजना सिंह की मानें तो थकान, आयरन की कमी का सबसे आम लक्षण है. ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि शरीर में हीमोग्लोबिन बनाने के लिए पर्याप्त मात्रा में आयरन नहीं होता है. पर्याप्त हीमोग्लोबिन के बिना ऑक्सीजन की पर्याप्त मात्रा हमारी मांसपेशियों तक नहीं पहुंचती है, जिससे हमारे शरीर को थकान महसूस होती है. इसके अलावा जब शरीर में आयरन की कमी हो जाती है तो सूखी त्वचा, खराब बाल और सफेद नाखून होने लगते हैं. गर्भवस्था के समय कुछ महिलाओं को एनीमिया रोग होने की संभावना हो जाती है.आयरन की अधिक कमी होने से मनुष्य की प्रतिशा कम हो जाती है, जिससे वह अधिक बीमार होने लगता है.

ये भी पढ़ें:health news: मानसिक तनाव, अस्थमा समेत इन बीमारियों से बचाती है हींग, एक्सपर्ट्स ने बताए गजब के फायदे





Source link


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *