HEALTH

बच्चों को मल्टी टैलेंटेड बनाने के लिए कराएं ये 5 एक्टिविटी, कंप्यूटर से तेज चलेगा उनका दिमाग!

Spread the love


नई दिल्ली: तेजी से बदलते इस दौर में आपके लिए मल्टी टैलेंटेड होना बेहद जरूरी है, क्योंकि आने वाले समय में आपको और से बेहतर करना होगा और हर जगह स्मार्ट वर्क करके दिखाना होगा. हम अकसर देखते भी हैं कि पढ़ाई से लेकर नौकरी तक तेज दिमाग वाले लोग आगे निकल जाते हैं.

अगर बचपन से ही दिमागी कसरत पर ध्यान दिया जाए तो बड़े होकर ज्यादा परेशानी नहीं आती. हम देखते भी हैं कि हर मां-बाप अपने बच्चे को होशियार और तेज दिमाग का बनाना चाहते हैं. अगर आप चाहते हैं कि आपका बच्चा भी मल्टी टैलेंटेड और तेज दिमाग वाला बने तो आपको उसकी दिमागी कसरत पर अभी से ध्यान देना होगा.

दिमाग को तेज, स्वस्थ्य और एक्टिव बनाए रखने के लिए बहुत सारे लोग खान-पान पर विशेष ध्यान देते हैं. कुछ लोग बच्चों को बादाम और अखरोट खिलाते हैं, लेकिन दिमाग को तेज करने के कई दूसरे विकल्प भी हैं. इस खबर में हम आपको इन्ही विकल्पों के बारे में बता रहे हैं.

दिमागी कसरत जरूरी
एक्सपर्ट्स बताते हैं कि जैसे शरीर को फिट रखने के लिए एक्सरसाइज जरूरी है, ठीक वैसे ही दिमाग को तेज बनाने के लिए दिमागी कसरत का होना बेहद जरूरी है. आप बच्चों के साथ कोई दिमागी खेल खेलिए, जैसे प्रश्नोत्तर, शब्दकोश भरना या कोई ऑप्शन. आप सवाल-जवाब का गेम भी खेल सकते हैं, इससे बच्चों की याददाश्त बढ़ेगी और ज्ञान भी बढ़ेगा.

खेलकूद भी है जरूरी
फिटनेस एक्सपर्ट्स कहते हैं कि बच्चों को खेलकूद बेहद जरूरी है. इससे वह फुर्तीले होते हैं, शरीर एक्टिव रहता है तो दिमाग भी तेज चलता है. खेलने से बच्चों के दिमाग में ऑक्सीजन का प्रवाह तेजी से होता है, जिससे मस्तिष्क फिट रहता है और दिमाग की ग्रोथ भी अच्छी होती है.

कलात्मकता भी जरूरी है
आपको बचपन से ही अपने बच्चों का कला के प्रति रुझान बढ़ाना होगा, इससे उनका दिमाग तेजी और अच्छी तरह से विकसित होता है, क्योंकि कला के जरिए बच्चे नई चीजें देखते, सीखते और समझते हैं. खास बात ये है कि कला का अभ्यास बच्चों को कल्पनाशील बनाता है और बहुआयामी सोच विकसित करता है.

नई भाषा सीखना जरूरी
अगर आप कम उम्र में ही बच्चों को दूसरी भाषाओं का ज्ञान कराएंगे तो वह मल्टी टैलेंटेड बनेगा. क्योंकि जिन बच्चों को कई भाषा आती हैं, उनका दिमाग एक ही भाषा आने वाले बच्चे से तेज होता है. इससे बच्चे में और भी योग्यताएं विकसित होती हैं. ये उसके भविष्य के लिए भी बेहतर होता है. 

गणि‍त सब्जेक्ट समझाना बेहद जरूरी
बच्चों को बचपन से ही गणित का अच्छा अभ्यास कराना चाहिए. क्योंकि यह एक ऐसा विषय है कि जो बच्चे के दिमाग को तेज करता है, जिन लोगों की गणित में ज्यादा रूची होती है, वो दूसरों की तुलना में ज्यादा बुद्ध‍िमान पाए गए हैं. 

डिस्क्लेमर- यहां दी गई जानकारी किसी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है. यह सिर्फ शिक्षित करने के उद्देश्य से दी जा रही है.

ये भी पढ़ें: Depression Symptoms: अगर आपके बिहेवियर में आ रहे हैं ऐसे बदलाव, तो आप हो सकते हैं डिप्रेशन के शिकार





Source link


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *