LATEST NEWS

बारिश का टोटका! रायसेन में धूमधाम से हुई मेंढक-मेंढकी की शादी; ग्वालियर में सुबह से झमाझम जारी

Spread the love


रायसेन: Rain in Madhya Pradesh: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में मॉनसून (Monsoon) के आगमन के बाद से बारिश में कमी दर्ज की गई. पिछले कुछ दिनों से ग्वालियर चंबल के कुछ इलाकों में हल्की बारिश हुई. वहीं रायसेन जैसे कुछ इलाकों में बारिश नहीं होने से परेशानी बढ़ी. यहां के गावों में बारिश के लिए टोने टोटके करना शुरू कर दिए गए हैं. यहां शहर में तो मेंढ़कों की शादी भी हुई.

पचमढ़ी से आए दूल्हा-दुल्हन
जिले में अच्छी बारिश हो, इसीलिए इस तरह के टोटकों का प्रयोग किया जाता है. दूल्हा मेंढक और दुल्हन मेंढकी को होशंगाबाद से लाया जाता है. यहां मोगिया समाज में मान्यता है कि ऐसा करने से अच्छी बारिश होती है. इसके लिए गांव के सभी लोगों को बाराती बनाया जाता है, और पूरी रस्मों के साथ उनका विवाह संपन्न होता है.

यह भी पढ़ेंः- ड्रग्स तस्करों के निशाने पर स्टूडेंट्स! पहले दोस्ती करते और फिर लगाते थे नशे की लत, पुलिस ने किया हैरान करने वाला खुलासा

गांव में करवाते हैं भंडारा
वे लोग नीम की पत्तियों को बांध कर पालकी बनाते हैं, और उसमें मेंढक और मेंढकी को बैठाते हैं. पचमढ़ी से आए इस जोड़े के लिए गांव भर में घर-घर जाकर आटा, दाल, नमक, मिर्ची, हल्दी और धनिया समेत अन्य सामान मांगकर इकट्ठा किया जाता है. फिर देवी के मंदिर में जाकर दाल-बटी बनाकर भंडारा भी किया जाता है. शादी के बाद जोड़े को शहर के बंछोड़ तालाब में आराम करने के लिए छोड़ देते हैं. 

ग्वालियर अंचल पर मेहरबान हुए इंद्रदेव
रायसेन जैसे कुछ इलाकों में जहां बारिश नहीं हो रही, वहीं ग्वालियर अंचल में लंबे इंतजार के बाद बारिश ने दखल दी. यहां शनिवार रात को बारिश हुई, रविवार को मौसम शुष्क रहा, लेकिन सोमवार को एक बार फिर झमाझम पानी बरसा. मौसम विभाग ने बताया कि आने वाले 2 से 3 दिनों में इसी तरह की बारिश होगी. 

यह भी पढ़ेंः- नाबालिग के साथ सामूहिक दुष्कर्म कर बेचा, मानव तस्करी के दोषियों को कोर्ट ने दी ये कठोर सजा

तेजी से लुढ़का तापमान
17 जुलाई की शाम हुई बारिश का असर ग्वालियर के तापमान पर भी देखने को मिला. यहां तापमान 7.5 डिग्री तक लुढ़क गया. लेकिन यहां औसत बारिश अब तक 79.1 मिलीमीटर दर्ज की गई, जबकि अब तक 160 मिलीमीटर बारिश होनी थी. मौसम विभाग के अनुसार 1 जून से 30 सितंबर तक ग्वालियर में बारिश तभी होगी, जब दिल्ली हरियाणा और पंजाब का मॉनसून एक्टिव होगा. 

यह भी पढ़ेंः- MP में बसपा को लगा तगड़ा झटका, कमलनाथ ने एक दर्जन पदाधिकारियों को ज्वाइन कराई पार्टी, ये है वजह

WATCH LIVE TV





Source link


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *