POLITICS

ममता बनर्जी और मुकुल रॉय की मुलाकात जारी, 4:30 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगी दीदी

Spread the love


भाजपा के कद्दावर नेता मुकुल रॉय वापस तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में भाजपा को करारी मात देने के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बीजेपी को एक और बड़ा झटका देने की तैयारी में हैं। माना जा रहा है कि भाजपा के कद्दावर नेता मुकुल रॉय की घर वापसी हो सकती है।

भाजपा नेता मुकुल रॉय अपने बेटे सुभ्रांशु के साथ टीएमसी में शामिल हो सकते हैं। इसी सिलसिले में तृणमूल भवन में एक बैठक आयोजित की गई है। सीएम बनर्जी और मुकुल रॉय के बीच मुलाकात जारी है। बैठक में मुकुल रॉय के बेटे सुभ्रांशु और सांसद अभिषेक बनर्जी भी मौजूद हैं। बैठक के बाद सीएम ममता बनर्जी शाम 4:30 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगी।

यह भी पढ़ें :- West Bengal politics: ….. तो क्या पार्टी छोड़ रहे हैं भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय के पुत्र

विधानसभा चुनाव में भाजपा की करारी हार के बाद ऐसा माना जा रहा था कि कई दिग्गजों की घर वापसी हो सकती है और वे भाजपा छोड़ तृणमूल में वापस शामिल हो सकते हैं। इनमें सबसे बड़ा नाम मुकुल रॉय का था। राजनीतिक जानकारों का मानना है कि भाजपा में शुभेंदु अधिकारी के बढ़ते कद से मुकुल रॉय असहज महसूस करने लगे थे, जिसके बाद वे वापस टीएमसी में लौटने पर विचार करने लगे थे।

एक हफ्ते में चार बार ममता से मुकुल ने की बात

सूत्रों के हवाले से मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया है कि मुकुल रॉय ने पिछले एक सप्ताह में सीएम ममता बनर्जी से फोन पर चार बार बात की। वे विधानसभा चुनाव से पहले टीएमसी में वापस शामिल होना चाहते थे।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, भाजपा के अंदर मुकुल रॉय को पहले दिलीप घोष से परेशानी थी और बाद में शुभेंदु अधिकारी के बढ़ते कद से वे असहज हो गए। भाजपा में आने के बाद मुकुल को पार्टी ऑफिस में जगह नहीं मिली। चुनाव नतीजों के बाद मुकुल रॉय के वापस टीएमसी में शामिल होने की अटकलें तेज हो गई थी।

यह भी पढ़ें :- West Bengal: भाजपा सांसद लॉकेट चटर्जी बोलीं-‘जनता से माफी मांगे ममता बनर्जी’

टीएमसी नेता सौगत रॉय ने एक बयान में कहा कि कुछ ऐसे नेता हैं जो पार्टी छोड़कर पहले दूसरी पार्टी में जा चुके हैं, लेकिन ममता बनर्जी का कभी अपमान नहीं किया, जबकि कुछ ने किया है। मुकुल रॉय भी ऐसे सॉफ्ट नेता रहे हें जिन्होंने पार्टी छोड़ने के बाद भी ममता बनर्जी पर निजी तौर पर कोई आरोप नहीं लगाए।

4 साल पहले TMC ने मुकुल रॉय को निकाला था बाहर

मालूम हो कि टीएमसी में ममता बनर्जी के बाद दूसरे नंबर का कद रखने वाले मुकुल रॉय को 4 साल पहले टीएमसी ने पार्टी विरोधी गतिविधियों के आरोप में बाहर का रास्ता दिखा दिया था। इसके बाद उन्होंने नवंबर 2017 में भाजपा का दामन थाम लिया था। वे 1998 से ही बंगाल की राजनीति में सक्रिय हैं।









Source link


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *