HEALTH

40 की उम्र के बाद महिलाओं के लिए 5 जरूरी टेस्ट, खतरनाक बीमारियों के बारे में देते हैं संकेत

Spread the love


महिलाओं का शारीरिक स्वास्थ्य पुरुषों के मुकाबले ज्यादा जटिल और संवेदनशील होता है. जिस कारण उन्हें अपने स्वास्थ्य की ज्यादा देखभाल करनी चाहिए. शरीर में हॉर्मोन्स के अक्सर घटते-बढ़ते स्तर, पीरियड्स और बढ़ती उम्र के कारण उन्हें शारीरिक कमजोरी व समस्याओं का ज्यादा अनुभव करना पड़ सकता है. इसलिए एक्सपर्ट्स के मुताबिक 40 की उम्र के बाद महिलाओं को कुछ टेस्ट नियमित अंतराल पर करवाने चाहिए, जिससे आने वाले किसी खतरे से समय रहते बचा जा सके. आइए, जानते हैं कि महिलाओं के लिए 40 की उम्र के बाद कौन-से टेस्ट (Health check-ups for women) बहुत जरूरी हो जाते हैं, जो खतरनाक बीमारियों के बारे में संकेत भी देते हैं.

ये भी पढ़ें: गर्भवती होने पर पीरियड्स मिस होने से भी पहले शरीर देता है ऐसे संकेत, जानें

कौन-से 5 टेस्ट महिलाओं के लिए जरूरी हैं?
40 की उम्र के बाद महिलाओं को निम्नलिखित टेस्ट नियमित अंतराल पर करवाने चाहिए. जैसे-

ब्रेस्ट कैंसर का टेस्ट
महिलाओं की शारीरिक संरचना में स्तन सबसे बड़ा फर्क पैदा करते हैं. ब्रेस्ट कैंसर का खतरा हर उम्र की महिला को हो सकता है, लेकिन उम्र बढ़ने के साथ यह खतरा गहराता जाता है. इसलिए अगर आपकी उम्र 40 को पार कर गई है, तो नियमित ब्रेस्ट एग्जामिनेशन करवाना ना भूलें. ब्रेस्ट एग्जामिनेशन करने के लिए आप हर दो से तीन हफ्ते में घर पर ही शारीरिक परिक्षण कर सकती हैं. इसके लिए आप उन्हें छूकर जांच सकती हैं कि उनमें कहीं कोई गांठ तो नहीं बन रही, अगर आपको किसी तरह की गांठ महसूस होती है, तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं. इसके अलावा, साल में एक बार पैप स्मीयर और मैमोग्राम टेस्ट भी करवाया जा सकता है. कैंसर शुरुआत में पता लगने से उसके ठीक होने की संभावना काफी बढ़ जाती है.

कोलेस्ट्रॉल टेस्ट
शरीर में कोलेस्ट्रॉल का अत्यधिक स्तर दिल के रोग और स्ट्रोक का मुख्य कारण बन सकता है. हालांकि, हाई कोलेस्ट्रॉल को आहार व जीवनशैली में कुछ बदलाव करके कम किया जा सकता है. लेकिन इसे नजरअंदाज करने से खतरनाक परिणाम देखने को मिल सकते हैं. महिलाओं को 40 के बाद हर 3-4 साल में एक बार कोलेस्ट्रॉल टेस्ट करवा लेना चाहिए. आपका टोटल कोलेस्ट्रॉल 200mg/dL से कम होना चाहिए.

ये भी पढ़ें: Corpse Pose: सिरदर्द और हाई ब्लड प्रेशर से राहत दिलाता है शवासन, जानें इसके चमत्कारिक फायदे

महिलाओं के लिए जरूरी टेस्ट: ऑस्टियोपोरोसिस टेस्ट
ऑस्टियोपोरोसिस वो बीमारी है, जिसमें आपकी हड्डियां कमजोर होने लगती हैं और उनके चोटिल या फ्रैक्चर होने का खतरा काफी होता है. आंकड़ों के मुताबिक, पुरुषों से ज्यादा यह बीमारी महिलाओं को प्रभावित करती है. वीमेन्सहेल्थ वेबसाइट के मुताबिक, ऑस्टियोपोरोसिस से प्रभावित 1 करोड़ अमेरिकी मरीजों में 80 लाख सिर्फ महिलाएं ही हैं. उम्र के बढ़ने के साथ महिलाओं में इसका खतरा काफी बढ़ जाता है. इसकी जांच करवाने के लिए आप DEXA स्कैन करवा सकते हैं. आपके हड्डियों के स्वास्थ्य को देखकर डॉक्टर बता सकता है कि आपको कितने समय में यह टेस्ट करवाते रहना चाहिए.

ब्लड प्रेशर टेस्ट
उम्र बढ़ने के साथ होने वाली समस्याओं में हाई ब्लड प्रेशर आम समस्या है. लेकिन यह जितनी आम है, उतना ही गंभीर समस्याओं का कारण बन सकती है. हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल ना करने पर यह हार्ट अटैक और स्ट्रोक का कारण बन सकता है. हालांकि, दवाओं और लाइफस्टाइल चेंज की मदद से इसे नियंत्रित किया जा सकता है. आपको डॉक्टर द्वारा सलाह किए गए अंतराल पर नियमित तौर पर ब्लड प्रेशर चेक करते रहना चाहिए. इसके लिए आप घर पर ही ब्लड प्रेशर मॉनिटर लाकर रख सकते हैं.

महिलाओं के लिए जरूरी टेस्ट: ब्लड शुगर टेस्ट
अगर आपकी जीवनशैली स्वस्थ नहीं रही है और आप अस्वस्थ खानपान, धूम्रपान व एल्कोहॉल का सेवन करती हैं, तो आपको ब्लड शुगर टेस्ट करवाना ही चाहिए. हालांकि, डायबिटीज किसी को भी हो सकती है, लेकिन यह चीजें इसका खतरा बढ़ा देती हैं. आपको नियमित अंतराल पर फास्टिंग ब्लड शुगर का स्तर चेक करवाना चाहिए. आप घर पर भी रैंडम ब्लड शुगर टेस्ट कर सकते हैं.

यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं पर आधारित है.





Source link


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *