POLITICS

CM बनने के बाद उद्धव ठाकरे की दिल्ली में PM मोदी से दूसरी मुलाकात, मराठा आरक्षण सहित इन मुद्दों पर होगी चर्चा

Spread the love


महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे मंगलवार को दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे। मुलाकात के दौरान मराठा आरक्षण, ताउते तूफान से हुए नुकसान जैसे मुद्दों पर चर्चा होने की बात कही जा रही है।

नई दिल्ली। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे मंगलवार को दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे। मुलाकात के दौरान मराठा आरक्षण, ताउते तूफान से हुए नुकसान जैसे मुद्दों पर चर्चा होने की बात कही जा रही है। पीएम मोदी और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की यह मुलाकात काफी अहम है। मुख्यमंत्री बनने के बाद दिल्ली में पीएम मोदी और उद्धव ठाकरे के बीच यह दूसरी मुलाकात होगी। प्रधानमंत्री के साथ होने वाली इस मुलाकात से पहले एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने सोमवार शाम को ठाकरे से मुलाकात की।

यह भी पढ़ें :— धीमी पड़ी कोरोना की दूसरी लहर: नए केस में भारी कमी, 3 हफ्ते बाद 50 प्रतिशत गिरावट, मौत का आंकड़ा भी घटा

मराठा आरक्षण पर चर्चा
पीएम मोदी के साथ इस मुलाकात के दौरान डिप्टी सीएम अजित पवार, मराठा आरक्षण उप कमेटी के अध्यक्ष अशोक चव्हाण भी सीएम उद्धव ठाकरे के साथ मौजूद रहेंगे। इस मुलाकात के दौरान मराठा आरक्षण पर अधिक चर्चा होने की संभावना है। उद्धव ठाकरे ने सोमवार को राकांपा अध्यक्ष शरद पवार और उपमुख्यमंत्री अजीत पवार के साथ एक घंटे तक चर्चा की। पता चला है कि इस बैठक में मराठा, ओबीसी, पदोन्नति आरक्षण और अन्य महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा हुई।

 

यह भी पढ़ें :— तीसरी लहर से पहले खुशखबरी: इस महीने आ सकती है बच्चों की स्वदेशी वैक्सीन, टीके के तीसरे चरण का परीक्षण पूरा

पत्र लिखकर की गई कई मांगे
समय-समय पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर कई मांगें की गईं। लेकिन अब मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से दिल्ली में मिल रहे है। इसलिए इस दौरे का महत्व बढ़ गया है। राज्य सरकार को कोरोना से निपटने के लिए कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इसको लेकर भी चर्चा हो सकती है। उद्धव ठाकरे चाहते हैं कि ताउते तूफ़ान से हुए नुकसान की भरपाई के लिए गुजरात की तर्ज पर 1000 करोड़ महाराष्ट्र को भी दिया जाए।

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे मुलाकात के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सामने निम्नलिखित मुद्दों को उठा सकते हैं:—

— मराठा आरक्षण।

— जीएसटी रिफंड।

— प्राकृतिक आपदाओं के बाद राहत और पुनर्वास के लिए एनडीआरएफ मानदंड में सुधार।

— केंद्र से महाराष्ट्र को टीकों की आपूर्ति बढ़ाई जाए।





Source link


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *