LIFESTYLE

Covid-19 पिता की उखड़ती सांस को देख बीमार बेटे ने छोड़ दिया अपना बेड, पिता की हालत गंभीर

Spread the love


देश में तेजी से फैल रही कोरोना (Coronavirus) महामारी से संक्रमित लोगों की संख्या में काफी तेजी से बढ़ोत्तरी देखने को मिल रही है अब अस्पताल में कोरोना संक्रमित मरीजों को बेड मिलना भी मुश्किल हो रहा है।

नई दिल्ली। आज पूरा देश कोरोना के संक्रमण से हाल बेहाल है एक तरफ जहां कोरोना संक्रमित लोगों के केस तेजी से बढ़ रहे है तो वहीं दूसरी ओर लोग इस संक्रमण से जिंदगी और मौत की जंग लड़ रहे है। ऐसा ही एक नजारा उस दौरान देखने को मिला जब एक कोरोना संक्रमित पिता के उखड़ती सांसों को देख खुद बेटे ने अपना बेड छोडकर पिता को बचाना उचित समझा। बेटे की इस ज़ज्बे को देख लोग काफी ताऱीफ भी कर रहे है।
इसे भी पढ़ें:- देश में Covid-19 के मामले बेलगाम, दिल्ली में एक दिन में मौतों का आंकड़ा हुआ 412 के पार

यह मामला नोएडा का है जहां पर एक 38 साल के कोरोना संक्रमित बेटे ने बीमार पिता को बचाने के लिए खुद अपना बेड छोड़ दिया। मयंक प्रताप सिंह के पिता उदय प्रताप कोरोना संक्रमित हो गए थे। और ज्यादा तबीयत खराब होने के बाद उन्हें सांस लेने में दिक्कत आने लगी थी। लेकिन ज्यादा तबीयत खराब होने के बाद भी उन्हें अस्पताल में बेड़ नही मिल रहा था। जिसके चलते कोविड अस्पताल में एडमिट उनके बेटे मयंक ने पिता को अपना बेड देने का फैसला किया। मयंक भी कोरोना संक्रमित हैं और वे भी अपना इलाज कराने के लिए अस्पताल में भर्ती थे। मयंक अब होम आइसोलेशन में हैं।

कोरोना संक्रमित पिता का गिरने लगा ऑक्सिजन लेवल

कोरोना संक्रमित मयंक 17 अप्रैल को नोएडा कोविड अस्पताल में भर्ती हुए थे। इसके बाद ही उनके पिता भी कोरोना संक्रमित हो गए। और उनका ऑक्सिजन लेवल भी गिरने लगा। पिता की बिगड़ती हालत को देख और अस्पताल में बेड ना मिलने की वजह से मयंक ने अपना बेड छोड़ने का फैसला किया। इसके लिए मंयक ने पहले सीनियर डॉक्टर से संपर्क किया और उन्हें बताया कि भले ही मैं अभी कमजोरी महसूस कर रहा हूं लेकिन पिता की तुलना में मेरी हालत काफी ठीक है। और इसलिए उसनें अपना बेड पिता को देने की इच्छा जताई। जिसके बाद डॉक्टर भी राजी हो गए। अभी मयंक के पिता आईसीयू में हैं।





Source link


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *