LATEST NEWS

Deoghar: सावन में भोले बाबा के होंगे ऑनलाइन दर्शन, श्रद्धालुओं के लिए देवघर के बॉर्डर्स रहेंगे सील

Spread the love


Deoghar: 25 जुलाई से सावन के पवित्र महीने की शुरुआत हो रही है. लेकिन, भोले बाबा के धाम (BabaDham) देवघर में कोरोना काल (Coronavirus) को लेकर जारी गाइडलाइन्स के मुताबिक, मंदिरों में श्रद्धालुओं के जाने पर पाबंदी है. ऐसे में जिला प्रशासन सावन के पूरे महीने बाबा के ऑनलाइन दर्शन की तैयारी कर रहा है. तो वहीं बॉर्डर्स को सील करने की प्रक्रिया भी शुरू हो चुकी है.

कोरोना महामारी के कारण लगातार दूसरे साल बाबा बैद्यनाथ धाम में सदियों से लगने वाले श्रावणी मेले का आयोजन नहीं होने जा रहा है. आमतौर पर देवघर के विश्वप्रसिद्ध बाबा मंदिर (Baba Mandir) में बांग्ला सावन शुरू होते ही श्रद्धालुओं की भीड़ लगनी शुरू हो जाती थी, लेकिन इस साल कोरोना की तीसरी संभावित लहर से बचाव के लिए आम श्रद्धालुओं के लिए बाबा मंदिर बंद ही रहेगा. हालांकि, भक्तों की आस्था को देखते हुए बाबा धाम में बाबा के ऑनलाइन दर्शन और पूजन की तैयारी जिला प्रशासन की ओर से की जा रही है.

कोविड के विकराल रूप को देखते हुए फैसला लिया गया
देवघर के उपायुक्त मंजुनाथ भजंत्री, के मुताबिक कोविड के विकराल रूप को देखते हुए यह फैसला लिया गया है. उन्होंने लोगों से आस्था को मानते हुए घर से ही पूजा करने गुजारिश की है. उन्होंने बताया की इसके लिए वेबसाइट को अंतिम रूप दिया जा रहा है, जिसके जरिये श्रद्धालु बाबा की ऑनलाइन सेवा कर सकते हैं.

बाबा वैद्यनाथ धाम में पूजा में प्रसाद का भी महत्व होता है और बाबा के प्रसाद की अलग ही महत्ता है, इसीलिए प्रसाद को लेकर भी ऑनलाइन बिक्री की व्यवस्था की जा रही है. देवघर प्रशासन ने देवघर मार्ट नाम से पोर्टल बनाया है, जिसके जरिये पेड़ा चुड़ा सहित तमाम चीजों की बिक्री होगी. साथ ही साथ कारीगरों को भी उनके बनाए गए सामान को बेचने के लिए प्लेटफार्म दिया जा रहा है.

एंट्री और एग्जिट प्वाइंट को सील करने की प्रक्रिया शुरू
वहीं. सावन के दौरान दर्शन-पूजन के इरादे से आने वाले सभी श्रद्धालुओं का पूरे जिले में ही प्रवेश वर्जित होगा ताकि अनावश्यक भीड़ मंदिरों के बाहर इकट्ठा ना हो जाए. लिहाजा सभी एंट्री और एग्जिट प्वाइंट को सील करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है.

जिले के उपायुक्त के मुताबिक, इसके लिए पांच जगहों पर चेक पोस्ट बनाया जाएगा. इसके तहत दर्दमारा बॉर्डर, अंधरीगादर बॉर्डर, दुम्मा बॉर्डर, जमुई बॉर्डर और जयपुर मोड़ के पास चेक पोस्ट लगाकर बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं को देवघर आने से रोका जा रहा है.





Source link


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *