HEALTH

Health News: भारत में है सन पॉइजनिंग का ज्यादा खतरा! जानें इसके लक्षण और घरेलू उपाय

Spread the love


गर्मियों के दौरान भारत के कई क्षेत्रों में चिलचिलाती धूप की मार काफी ज्यादा होती है.  जिसके कारण धूप में निकलने या काम करने वाले लोगों को सन पॉइजनिंग (Sun Poisoning) का ज्यादा खतरा हो सकता है. यूरोप व रशिया जैसे देशों के मुकाबले भारत में इसका ज्यादा खतरा होता है. दरअसल सन पॉइजनिंग, सनबर्न का ही गंभीर रूप है. सनबर्न (Sunburn) को हिंदी में सूर्यदाह भी कहा जाता है. जब सूर्य की खतरनाक अल्ट्रावायलेट (यूवी) रेडिएशन के कारण त्वचा की ऊपरी सुरक्षात्मक परत क्षतिग्रस्त हो जाती है, तो उसे सनबर्न या सूर्यदाह कहा जाता है. लेकिन सन पॉइजनिंग के लक्षणों को तुरंत पहचानकर आप कुछ घरेलू उपायों की मदद से इससे राहत पा सकते हैं. आइए इसके बारे में जानते हैं.

ये भी पढ़ें: Beauty Tips: झुर्रियों से आजादी पाने के लिए सोने से पहले जरूर करें ये काम

सन पॉइजनिंग के लक्षण (Sun Poisoning Symptoms)
सूर्य की तेज रोशनी में सिर्फ 15 मिनट का समय बिताने पर आपको सनबर्न हो सकता है. मगर आपके शरीर पर इसके लक्षण दिखने में कुछ घंटे लग सकते हैं. वहीं, अगर आप सूर्य की रोशनी में काफी ज्यादा देर बिना किसी सुरक्षा के रहते हैं, तो आपको सन पॉइजनिंग भी हो सकती है. जिन लोगों के शरीर पर कम या हल्के बाल होते हैं, उन्हें सनबर्न या सन पॉइजनिंग की समस्या ज्यादा हो सकती है. आइए सन पॉइजनिंग के लक्षण (Sun Poisoning Symptoms) जान लेते हैं.

  • त्वचा का लाल हो जाना व छाने आना
  • सूजन
  • दर्द व झनझनाहट होना
  • बुखार या ठंड लगना
  • चक्कर आना
  • डिहाइड्रेशन
  • जी मिचलाना
  • सिरदर्द, आदि

ये भी पढ़ें: Health News: रविवार को जरूर करें ये काम, पूरे हफ्ते मिलेगा सुकून और खुशी

सन पॉइजनिंग के घरेलू उपाय (Sun Poisoning Home Remedies)
सन पॉइजनिंग के लिए आप शुरुआत में घरेलू उपायों की मदद से भी राहत पा सकते हैं. जो कि निम्नलिखित हैं। जैसे-

  1. सूर्य की रोशनी में कम जाना
  2. कुछ दिनों के लिए अतिरिक्त तरल पदार्थों का सेवन
  3. कूल शॉवर लेना या सामान्य गीले कपड़े से कंप्रैस करना
  4. एलोवेरा जेल या मॉइश्चराइजर का इस्तेमाल
  5. बाहर जाने पर सन पॉइजनिंग हुए हिस्से को पूरी तरह ढक कर रखना
  6. दर्द से राहत पाने के लिए डॉक्टरी सलाह पर आइबूप्रोफेन या एसिटामिनोफेन का सेवन करना

अगर आपके सन पॉइजनिंग के साथ त्वचा के बड़े हिस्से पर छाले, चेहरे पर सूजन, बुखार, पेट खराब होना, सिरदर्द, बेहोशी या डिहाइड्रेशन के संकेत भी मिलें, तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं.

सन पॉइजनिंग से बचाव (Sun Poisoning Prevention)
सन पॉइजनिंग या सनबर्न से बचने के लिए आप निम्नलिखित तरीकों से बचाव कर सकते हैं.

  • बाहर जाने से 15 से 30 मिनट पहले कम से कम 30 एसपीएफ वाली सनस्क्रीन को पूरे शरीर पर लगाना. सनस्क्रीन वो इस्तेमाल करें, जो यूवी ए और यूवी बी दोनों किरणों से सुरक्षा प्रदान करती हो. पसीना आना या पानी में भीग जाने या हर दो घंटे के बाद सनस्क्रीन लगाएं.
  • सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे के बीच बाहर जाने से बचें. क्योंकि इस दौरान सूर्य की धूप सबसे ज्यादा तेज होती है.
  • बाहर जाने से पहले आरामदायक व सुरक्षात्मक कपड़े, सनग्लास और हैट पहनना.

यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं पर आधारित है. इसका हम दावा नहीं करते हैं.





Source link


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *