HEALTH

High Blood Pressure: हाई ब्लड प्रेशर (हाइपरटेंशन) क्या होता है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

Spread the love


जब आपका ब्लड प्रेशर अस्वस्थ स्तर तक पहुंच जाता है, तो उसे हाई ब्लड प्रेशर या हाइपरटेंशन कहा जाता है. आपकी रक्त धमनियों से रक्त के गुजरने के प्रवाह और ब्लड को पंप करने के लिए दिल द्वारा लगाई जा रही ताकत के आधार पर ब्लड प्रेशर यानी रक्तचाप के स्तर का निर्धारण होता है. आपकी रक्त धमनियां जितनी पतली या सिकुड़ी होंगी, उतना ही आपके दिल को ब्लड पंप करके आगे फेंकने में ताकत लगानी पडे़गी और आपका ब्लड प्रेशर (रक्तचाप) उतना ही ज्यादा होगा. लंबे समय तक उच्च रक्तचाप (हाई ब्लड प्रेशर) रहने से हार्ट डिजीज के साथ अन्य बीमारियां भी हो सकती हैं. उच्च रक्तचाप को जितनी जल्दी पहचानकर इसे नियंत्रित करने के कदम उठाए जाएं, उतना बेहतर है. आइए जानते हैं कि ब्लड प्रेशर के कारण, लक्षण और उपाय क्या हैं.

ये भी पढ़ें: Corpse Pose: सिरदर्द और हाई ब्लड प्रेशर से राहत दिलाता है शवासन, जानें इसके चमत्कारिक फायदे

हाई ब्लड प्रेशर के कारण क्या हैं?
हाई ब्लड प्रेशर का कारण उसके प्रकार पर निर्भर करता है. उच्च रक्तचाप मुख्यतः दो प्रकार के होते हैं, पहला प्राथमिक उच्च रक्तचाप (प्राइमरी हाइपरटेंशन) और दूसरा माध्यमिक उच्च रक्तचाप (सेकेंडरी हाइपरटेंशन). आइए इनके कारण जानते हैं.

प्राइमरी हाइपरटेंशन के कारण

  • कुछ लोगों को अपने माता-पिता या परिवार के किसी अन्य सदस्य से आनुवंशिक रूप से उच्च रक्तचाप की समस्या मिल सकती है. यह समस्या जीन के म्यूटेशन या जीन की असामान्यता के कारण होती है.
  • बढ़ती उम्र के कारण शरीर में होने वाले बदलावों के कारण भी हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो सकती है. उदाहरण के लिए, उम्र बढ़ने के कारण किडनी की कार्यक्षमता कम होने से शरीर में नमक और तरल पदार्थ के असंतुलन के कारण भी हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो सकती है.
  • मोटापे, शुगर, अस्वस्थ जीवनशैली और शारीरिक असक्रियता के कारण भी उच्च रक्तचाप की समस्या हो सकती है.

सेकेंडरी हाइपरटेंशन के कारण

  • किडनी की बीमारी
  • एल्कोहॉल का सेवन
  • नींद की समस्या
  • थायरॉइड की समस्या
  • एड्रेनल ग्लैंड की समस्या, आदि

ये भी पढ़ें: अप्रैल से अगस्त के दौरान जरूर खानी चाहिए ये सब्जियां, डाइटीशियन ने बताई वजह

हाई ब्लड प्रेशर के लक्षण
हाई ब्लड प्रेशर को आमतौर पर एक साइलेंट समस्या कहा जाता है. शुरुआत में इसके लक्षण दिखने मुश्किल होते हैं, लेकिन फिर भी यह दिमाग, दिल, आंख और किडनी जैसी महत्वपूर्ण अंगों पर बुरा असर डाल सकता है. इसके कारण जो लक्षण दिखाई देते हैं, वे किसी और समस्या के कारण भी दिखाई दे सकते हैं. जैसे-

  • सांस फूलना
  • पेशाब में खूना आना
  • चक्कर आना
  • छाती में दर्द
  • आंखों की रोशनी धुंधनी होना
  • सिरदर्द
  • नाक से खून आना, आदि

ये हाई ब्लड प्रेशर के लक्षण हर किसी में दिखने आसान नहीं होते, लेकिन अगर उच्च रक्तचाप के कारण आपको यह समस्या हो रही है, तो आपको तुरंत डॉक्टर की मदद लेनी चाहिए. इन लक्षणों को रोकने के लिए रोजाना ब्लड प्रेशर चेक करते रहें.

ये भी पढ़ें: Health News: भारत में है सन पॉइजनिंग का ज्यादा खतरा! जानें इसके लक्षण और घरेलू उपाय

उच्च रक्तचाप के उपाय
उच्च रक्तचाप के उपाय कई बिंदुओं पर निर्भर कर सकते हैं. जैसे उसका हाइपरटेंशन का प्रकार और उसका कारण. आइए इसके कुछ मुख्य उपाय जान लेते हैं.

  1. अगर आपको प्राइमरी हाइपरटेंशन की समस्या है, तो डॉक्टर आपकी जीवनशैली में बदलाव करवाकर या कुछ दवा की सलाह देकर इसे नियंत्रित करवा सकता है.
  2. सेकेंडरी हाइपरटेंशन की समस्या में डॉक्टर उसकी वजह बन रही बीमारी, समस्या या दवा के विकल्प या इलाज करने की कोशिश करता है.
  3. इसके अलावा, हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने के लिए बीटा-ब्लॉकर्स, एसीई इंहिबिटर्स, कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स आदि दवाएं खाने की सलाह दे सकता है.

यहां दी गई जानकारी किसी भी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है.





Source link


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *