LATEST NEWS

Rajasthan में शिक्षा मंत्री के निवास के बाहर ABVP का प्रदर्शन, RAS भर्ती परीक्षा में भ्रष्टाचार के लगाए आरोप

Spread the love


Jaipur : आरएएस भर्ती 2018 में साक्षात्कार में शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा के रिश्तेदारों को प्राप्त अंकों पर सवालिया निशान खड़े होते जा रहे हैं. बीते दिन जहां शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने काबिलियत के आधार पर निष्पक्ष और पारदर्शी तरीके से साक्षात्कार की बात कही तो बीजेपी के आला नेताओं ने भी इस पूरे मामले की जांच की मांग उठाई, तो वहीं आज अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की ओर से शिक्षा मंत्री और पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा (Govind Singh Dotasra) के घर के बाहर जमकर प्रदर्शन किया.

यह भी पढ़ें : Rajasthan में Congress सरकार पर Sachin Pilot का सियासी तंज, सरकार बना तो लेते हैं लेकिन रिपीट नहीं होती

आरएएस भर्ती 2018 (RAS recruitment examination) में शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा की पुत्रवधु प्रतिभा के भाई गौरव और बहन प्रभा के साक्षात्कार में 80 फीसदी अंक आना अब विवाद का विषय बन गया है. लिखित परीक्षा में 47 से 50 फीसदी अंक होने के बाद साक्षात्कार में 80 फीसदी अंक आने अब राजनीति का विषय बन चुका है. बीते दिन जहां बीजेपी के नेताओं ने मामले की जांच की मांग उठाई तो आज अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने शिक्षा मंत्री के इस्तीफे की की मांग को लेकर शिक्षा मंत्री के आवास के बाहर प्रदर्शन किया.

प्रदर्शन की सूचना मिलने के साथ ही शिक्षा मंत्री के आवास के बाहर भारी पुलिस जाप्ता तैनात कर दिया गया, लेकिन इसके बाद भी गलियों में होकर करीब दर्जनभर एबीवीपी छात्र नेता (ABVP) शिक्षा मंत्री के आवास के करीब पहुंचे, लेकिन समय रहते ही पुलिस प्रशासन द्वारा तत्परता दिखाते हुए छात्रों को आवास से करीब 50 मीटर दूरी पर रोक लिया गया. जिसके बाद छात्र सड़क पर ही धरने पर बैठ गए. करीब 15 मिनट तक चले हंगामे के बाद पुलिस द्वारा छात्रों को बलपूर्वक सड़क से उठाया गया. इसके साथ ही 12 छात्र नेताओं को हिरासत में भी लिया गया. छात्रों को हटाने के लिए दौरान कई छात्रों को जहां उठाकर ले जाया गया तो सड़क पर लेटे हुए छात्र नेताओं को घटिया भी गया.

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के प्रदेश मंत्री होश्यार मीणा ने बताया कि “पिछले तीन सालों से भर्तियों में लगातार भ्रष्टाचार के मामले उजागर हो रहे हैं और शिक्षा विभाग में जो भी काम हो रहा है वो सिर्फ शिक्षा मंत्री के गृह जिले के हो रहे हैं. यहां तक की आरएएस भर्ती 2018 में जिसने टॉप किया उसके भी साक्षात्कार में महज 77 नम्बर आए हैं. जबकि शिक्षा मंत्री के रिश्तेदारों के लिखित में 45 फीसदी और 47 फीसदी नम्बर आने के बाद भी साक्षात्कार में 80 फीसदी अंक आए हैं. ऐसे में अब पूरे साक्षात्कार की जांच होनी चाहिए और योग्य अभ्यर्थियों को मौका मिलना चाहिए.”

बहरहाल करीब 30 मिनट तक चले जबरदस्त प्रदर्शन के बाद पुलिस द्वारा छात्रों को बलपूर्वक हटाया गया. वहीं, करीब एक दर्जन छात्रों को हिरासत में भी लिया गया. वहीं, दूसरी ओर एबीवीपी ने साफ चेतावनी दे दी है कि जब तक मामले की निष्पक्ष रूप से जांच नहीं हो जाती तब तक आंदोलन जारी रहेगा.

यह भी पढ़ें : गजब संयोग! शिक्षा मंत्री Dotasra की बहू के भाई-बहन के RPSC इंटरव्यू में आए बराबर नंबर





Source link


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *