SPORTS

Tokyo Olympics: अपना राष्ट्रीय झंडा नहीं लहरा पाएंगे इस मुल्क के खिलाड़ी, जर्सी पर नहीं होगा देश का नाम

Spread the love


टोक्यो: खेलों में सबसे लंबे डोपिंग विवाद के बाद रूस (Russia) टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) में एक और नए नाम के साथ कॉम्पिटीशन पेश करेगा. मेडल सेरेमनी के दौरान किसी पोडियम के ऊपर रूस का झंडा नजर नहीं आएगा लेकिन खिलाड़ियों की पोशाकों पर राष्ट्रीय रंगों का इस्तेमाल हो सकता है.

रूस पर डोपिंग का साया

पुराने और नए डोपिंग मामलों का साया अब भी रूस की टीम पर है. पिछले कई सालों के मामलों के लिए टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) की टीम में शामिल 2 तैराकों को सस्पेड किया गया है और दो रोइंग खिलाड़ी पिछले महीने कोरोना पॉजिटिव पाए गए. इस बार टीम रूस और ‘ओलंपिक एथलीट आफ रूस’ के नाम से नहीं उतरेगी. टीम इस बार रूस ओलंपिक समिति (ROC) के नाम से उतरेगी.
 

यह भी पढ़ें- भारत की जीत के बाद फैंस के निशाने पर आए रणतुंगा, धवन की सेना को बताया था ‘बी टीम’
 

इस नाम का करेंगे इस्तेमाल

खिलाड़ी आधिकारिक रूप से अपने देश नहीं बल्कि आरओसी (ROC) को रिप्रजेंट करेंगे और रूस के नाम, ध्वज और राष्ट्रगान पर प्रतिबंध होगा. आलोचकों का हालांकि कहना है कि रूस की टीमें जब राष्ट्रीय रंगों की पोशाकों के साथ उतरेंगी तो अंतर पहचानना बेहद मुश्किल होगा.
 

रूस का झंडा नहीं दिखेगा

रूस के खिलाड़ियों पर पोशाकों पर लाल, सफेद और नीले रंग का इस्तेमाल होगा लेकिन राष्ट्रध्वज और रूस नाम नहीं लिखा होगा. इसके अलावा कोई और राष्ट्रीय प्रतीक भी नहीं होगा. कलात्मक तैराकी टीम ने कहा कि उन्हें ऐसी पोशाक पहनने से रोका गया जिस पर भालू की तस्वीर बनी थी.
 

दस्तावेज में भी रूस का नाम नहीं

अधिकारिक ओलंपिक दस्तावेज और टीवी ग्राफिक्स पर भी रूस की टीमों के नतीजों को ‘आरओसी’ के रूप में दिखाया जाएगा लेकिन रूस ओलंपिक समिति के पूरे नाम का जिक्र नहीं होगा.गोल्ड मेडल विनर्स के लिए राष्ट्रगीत की जगह रूस के संगीतकार चेकोवस्की का संगीत बजाया जाएगा.

 





Source link


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *